KPS Gill (315 Views)

 

 

जब पंजाब में 37000 हिंदुओं की हत्या हो चुकी थी सिख आतंकवाद के दौर में। जब नारे लगते थे मूर्ति,बोदी, टोपी, तीनों जमुना पर।

खालिस्तान का झंडा, करेंसी और राष्ट्रपति तक घोषित कर दिया गया था। जब पंजाब में मंदिरों पर बम विस्फोट होते थे, हिंदुओं को बसों दे उतार उतार कर मारा जाता था, हिंदुओं की शादी में आतंकवादी घुस कर गोलियां बरसाते थे, जब थापर कालेज में चल रहे युथ फेस्टिवल में हिन्दू बच्चों को स्टेज पर मौत की नींद सुला दिया गया था, तब जब पंजाब की हुकूमत लाहौर से ISI चला रही थी और पंजाब में हिन्दू या भारतीय होना एक गुनाह था, तब KPS गिल पंजाब के DGP नियुक्त किये गए थे।

उसके बाद पंजाब दुनिया की ऐसी पहली धरती बना जहाँ आतँकवाद आया और चला गया। हालांकि आज भी बड़ी मात्रा में पंजाब के सिख खालिस्तान समर्थक हैं, कहीं न कहीं खालिस्तानी आतंकवादी हर महीने किसी न किसी रूप में हिंदुओं पर हमले कर रहे हैं, खालिस्तान की रैलियां आम बात हैं, 15 अगस्त black डे होता है, हिन्दू मंदिर गिरा दिए जाते हैं, हिन्दू, डेरा या निरंकारी समाज के नेतायों की हत्याएं हो रहीं हैं, RSS के दफ्तर पर बम विस्फोट हुआ है, पंजाब RSS के प्रमुख की हत्या कर दी गयी पिछले वर्ष, पाकिस्तान से हथियार लाते सिख आतंकवादी पकड़े जाते हैं, पर KPS गिल साहब ने उस समय कम से कम पंजाब में शांति स्थापित कर दी थी।

KPS गिल के खौफ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इन्होंने एक letter लिख कर PV नरसिम्हा राव को कहा था कि मुझे कश्मीर भेज दो। मैं सब सही कर दूंगा। सरकार हिम्मत नही दिखा पाई।
गिल साहब अमर रहें। इस महान देशभक्त को लाखों सलाम।

Popular Articles