लालबहादुर शास्त्री (2758 Views)

लालबहादुर शास्त्री (2 अक्तूबर, 1904 – 11 जनवरी, 1966)

2 अक्टूबर वह महान दिन जब भारत माता की गोद से एक एक सच्चा सपूत भारत के पूर्व प्रधान मंत्री और किसान नेता लाल बहादुर शास्त्री का जन्म उत्तर प्रदेश के मुग़लसराये की पावन धरती पर हुआ था| उनके पिता शारदा प्रसाद एक गरीब शिक्षक थे, जो बाद में राजस्व कार्यालय में लिपिक (क्लर्क) बने।

स्नातक की शिक्षा समाप्त करने के पश्चात वो भारत सेवक संघ से जुड़ गये और देशसेवा का व्रत लेते हुये यहीं से अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत की। शास्त्री जी सारा जीवन सादगी से रहे और गरीबों की सेवा में अपनी पूरी जिंदगी को समर्पित किया।

जवाहरलाल नेहरू का उनके प्रधानमंत्री के कार्यकाल के दौरान 27 मई, 1964 को देहावसान हो जाने के बाद, शास्त्री जी ने 9 जुन 1964 को प्रधान मंत्री का पद भार ग्रहण किया।

शास्त्री जी का प्रधानमंत्री पद के लिए कार्यकाल राजनैतिक सरगर्मियों से भरा और तेज गतिविधियों का काल था| पाकिस्तान और चीन भारतीय सीमाओं पर नजरें गडाए खड़े थे तो वहीं देश के सामने कई आर्थिक समस्याएं भी थीं|लेकिन शास्त्री जी ने हर समस्या को बेहद सरल तरीके से हल किया|

किसानों को अन्नदाता मानने वाले और देश के सीमा प्रहरियों के प्रति उनके अपार प्रेम ने हर समस्या का हल निकाल दिया| “ जय जवान, जय किसान ” के साथ उन्होंने देश को आगे बढ़ाया|

जिस समय वह प्रधानमंत्री बने उस साल 1965 में पाकिस्तानी हुकूमत ने कश्मीर घाटी को भारत से छीनने की योजना बनाई थी| लेकिन शास्त्री जी ने दूरदर्शिता दिखाते हुए पंजाब के रास्ते लाहौर में सेंध लगा पाकिस्तान को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया| इस हरकत से पाकिस्तान की विश्व स्तर पर बहुत निंदा हुई|

शास्त्री जी को उनकी सादगी, देशभक्ति और इमानदारी के लिये पूरा भारत श्रद्धापूर्वक याद करता है। उन्हे वर्ष 1966 मे भारत रत्न से सम्मानित
किया गया।

भारत देश के सच्चे सपूत को शत शत नमन
जय हिंद…!
जय भारत…!!

Popular Articles