Dated:- April 26, 2012

Posted in:- Videos

Posted By:- admin

Views:- 1186 Views

Comments:-  0 comments

Education in Masjid

Continue reading >>

Dated:- April 25, 2012

Posted in:- Vichaar

Posted By:- admin

Views:- 759 Views

Comments:-  0 comments

गत वर्ष हज सब्सिडी पर खर्च किये 770 करोड़

गत वर्ष, भारत सरकार ने 770 करोड़ रुपये हज यात्रा, हवाई टिकट एवं रहने की व्यवस्था पर खर्च किये | एक और तो सरकार सच्चर समिति और रंगनाथ मिश्र समिति की रिपोर्ट को आधार बना कर मुस्लिमों की दुर्दशा की बात करती है, दूसरी ओर गरीब मुस्लिमों की चिंता छोड़ कर अमीर मुस्लिमों के लिए मुफ्त में विदेश यात्राएँ करवाती है | ७७० करोड़ एक साल में खर्च कर दिए | जब सेकुलर देश है तो कर दाताओं का धन हज पे जाने के लिए देने का क्या अर्थ है?

Continue reading >>

Dated:- April 18, 2012

Posted in:- Vichaar

Posted By:- admin

Views:- 1318 Views

Comments:-  0 comments

गर्व से कहो हम हिन्दू हैं

गर्व से कहो हम हिन्दू हैं, क्यों
1) अलबर्ट आइन्स्टीन – हम भारत के बहुत ऋणी हैं,जिसने हमे गिनती सिखाई,जिसके बिना कोई भी सार्थक वैज्ञानिक खोज संभव नहीं हो पाती.

2) रोमां रोलां (फ्रांस) – मानव ने आदिकाल से जो सपने देखने शुरू किये ,उनके साकार होने का इस धरती पर कोई स्थान है ,तो वो है भारत.

3) हू शिह (अमेरिका में चीन राजदूत)- सीमा पर एक भी सैनिक न भेजते हुए भारत ने बीस सदियों तक सांस्कृतिक धरातल पर चीन को जीता और उसे प्रभावित भी किया.

4) मैक्स मुलर- यदि मुझसे कोई पूछे की किस आकाश के तले मानव मन अपने अनमोल उपहारों समेत पूर्णतया विकसित हुआ है, जहा जीवन की जटिल समस्याओं का गहन विश्लेषण हुआ और समाधान भी प्रस्तुत किया गया, जो उसके भी प्रशंशा का पात्र हुआ जिन्होंने प्लेटो और कांट का अध्ययन किया ,तो मैं भारत का नाम लूँगा.

Continue reading >>

Dated:- April 17, 2012

Posted in:- Stories

Posted By:- admin

Views:- 1002 Views

Comments:-  0 comments

जीजाबाई जैसी मां मिलीं तो देश को शिवाजी मिले

हिन्दू-राष्ट्र के गौरव क्षत्रपति शिवाजी की माता जीजाबाई का जन्म सन् 1597 ई. में सिन्दखेड़ के अधिपति जाघवराव के यहां हुआ। जीजाबाई बाल्यकाल से ही हिन्दुत्व प्रेमी, धार्मिक तथा साहसी स्वभाव की थीं। सहिष्णुता का गुण तो उनमें कूट-कूटकर भरा हुआ था। इनका विवाह मालोजी के पुत्र शाहजी से हुआ। प्रारंभ में इन दोनों परिवारों में मित्रता थी, किंतु बाद में यह मित्रता कटुता में बदल गई; क्योंकि जीजाबाई के पिता मुगलों के पक्षधर थे।

एक बार जाधवराव मुगलों की ओर से लड़ते हुए शाहजी का पीछा कर रहे थे। उस समय जीजाबाई गर्भवती थी। शाहजी अपने एक मित्र की सहायता से जीजाबाई को शिवनेर के किले में सुरक्षित कर आगे बढ़ गये। जब जाधवराव शाहजी का पीछा करते हुए शिवनेर पहुंचे तो उन्हें देख जीजाबाई ने पिता से कहा- ‘मैं आपकी दुश्मन हूं, क्योंकि मेरा पति आपका शत्रु है। दामाद के बदले कन्या ही हाथ लगी है, जो कुछ करना चाहो, कर लो।’

Continue reading >>

Dated:- February 22, 2012

Posted in:- Vichaar

Posted By:- admin

Views:- 3192 Views

Comments:-  3 comments

Secularism in India

1. There are nearly 52 Muslim Countries. Show One Muslim country which provides Haj subsidy.
2. Show one Muslim country where Hindus are extended the special rights that Muslims are accorded in INDIA.
3. Show one country where the 85% majority craves for the indulgence of the 15% minority.
4. Show one Muslim country which has a Non-Muslim as its President or Prime-Minister.
5. Show one Mullah or Maulvi who has declared a `fatwa` against terrorists.
6. Hindu-majority Maharashtra, Bihar, Kerala, Pondicherry etc. have in past elected Muslims as CM’s,… Can you ever….

Continue reading >>

Dated:- February 8, 2012

Posted in:- Vichaar

Posted By:- admin

Views:- 773 Views

Comments:-  0 comments

280 लाख करोड़

भारतीय गरीब है लेकिन भारत देश कभी गरीब नहीं रहा”* ये कहना है स्विस बैंक के

डाइरेक्टर का. स्विस बैंक के डाइरेक्टर ने यह भी कहा है कि भारत का लगभग 280 लाख करोड़

रुपये उनके स्विस बैंक में जमा है. ये रकम इतनी है कि भारत का आने वाले 30 सालों का बजट

बिना टैक्स के बनाया जा सकता है. या यूँ कहें कि 60 करोड़ रोजगार के अवसर दिए जा सकते है. या यूँ भी कह सकते है कि भारत के किसी भी गाँव से दिल्ली तक 4

Continue reading >>

Dated:- February 5, 2012

Posted in:- Vichaar

Posted By:- admin

Views:- 856 Views

Comments:-  2 comments

मैं ईमानदार हूं

मैं मन्दमोहन सिंह अग्नि कि शपथ लेकर ये केह्ता हूं कि मैं एक ईमानदार व्यक्ति हूं । हमारी नेता श्रीमती सोनिया गांधी तो साक्षात् ईमानदारी की मूर्ति हैं ।
आजकल एक व्यक्ति कोई सुब्रहमन्यम स्वामी है जो चिल्ला-चिल्ला कर हमारी सरकार के दो बहुत ही ईमानदार व्यतियों श्री ए. राजा तथा श्री पी. चिदंम्ब्रम को चोर कह रहा है, वो RSS तथा BJP के साथ मिला हुया है तथा हमारी सरकार के खिलाफ षड्यन्त्र कर रहा है । ये जो झूठे केस ह्मारे नेताओं के खिलाफ चल रहे हैं, ये सब इसी का किया धरा है । हमारे सबसे ईमानदार तथा सच्चे नेता दिग्विजय सिंह के पास इसके साक्षय भी हैं । हम ये सिद्ध कर देंगे कि ह्म ईमानदार है तथा हमारी सरकार देश को राम राज्य बना रही है ।

Continue reading >>

Dated:- January 18, 2012

Posted in:- Stories

Posted By:- admin

Views:- 1405 Views

Comments:-  0 comments

मूर्ख हिंदू

पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक शहर है, बहराइच । बहराइच में हिन्दू समाज का सबसे मुख्य पूजा स्थल है गाजी बाबा की मजार। और आप ये जान कर हैरान हो जाएंगे कि मूर्ख हिंदू लाखों रूपये हर वर्ष इस पीर पर चढाते है।

इतिहास का थोडा सा भी जानकार हर व्यक्ति जानता है कि…….. महमूद गजनवी के उत्तरी भारत को १७ बार लूटने व बर्बाद करने के कुछ समय बाद उसका भांजा “सलार गाजी” भारत को “दारूल इस्लाम बनाने के उद्देश्य” से भारत पर चढ़ आया । वह पंजाब ,सिंध, आज के उत्तर प्रदेश को रौंदता हुआ बहराइच तक जा पंहुचा। रास्ते में उसने लाखों हिन्दुओं का कत्लेआम किया , लाखों हिंदू औरतों के बलात्कार हुए, हजारों मन्दिर तोड़ डाले।

राह में उसे एक भी ऐसा हिन्दू वीर नही मिला जो उसका मान मर्दन कर सके और इस्लाम की जेहाद की उस आंधी को रोक सके।

Continue reading >>

Dated:-

Posted in:- Personalities

Posted By:- admin

Views:- 3781 Views

Comments:-  1 comments

स्वामी विवेकानंद

“मैं भविष्यद्रष्टा नहीं हूँ,न मैं उसके लिए चिंतित हूँ। किंतु, एक दृश्य मेरे सामने बिल्कुल स्पष्ट है, कि हमारी प्राचीन मातृभूमि एक बार फिर जाग उठी है। वह नवयौवन प्राप्त कर पहले से कहीं अधिक भव्य दीप्ती के साथ अपने जगद्गुरु के सिंहासन पर आरुढ़ है। समस्त संसार को शांतिपूर्ण और मंगलमय वाणी से उसका संदेश सुनाओ” |

देश परतंत्र है, गरीबी – भुखमरी से जूझ रहा है, लोगो में आत्मविश्वास नहीं है, चारो ओर घोर निराशा का वातावरण है….दूर-दूर तक कोई उम्मीद नहीं..इन सब के बीच स्वामी विवेकानंद की यह भारत द्वारा विश्व नेतृत्व की घोषणा एक आश्चर्य से कम नहीं थी | स्वामी जी स्वतंत्रता की बात नहीं कर रहे उससे एक कदम आगे विश्वविजय की गर्जना कर रहे थे | ‘One step ahead’ स्वामी जी की इस दूरद्रष्टि ने पूरे राष्ट्र में नई चेतना भर दी, लोगो में अपने देश और संस्कृति के प्रति गर्व प्रतिस्थापित हुवा..

Continue reading >>

Dated:-

Posted in:- Stories

Posted By:- admin

Views:- 979 Views

Comments:-  0 comments

देश द्रोही मीडिया

इस देश द्रोही मीडिया का क्या किया जाये ?   किसी मस्जिद की एक ईंट हिलती है तो ये वामपंथी भेष मे छिपी पत्रकारिता हाय तौबा मचा देती है लेकिन जब हिन्दू हितो की बात होती है तो यह मीडिया दंगे न फैलाने का बहाना बनाकर चुप बैठती है |   ऐसी ही एक घटना […]

Continue reading >>

Popular Articles