Save Hinduism Blog

0

जय जय भारत

मन मस्त फ़कीरी धारी है अब एक ही धुन जय जय भारत ॥ हम धन्य है इस जगजननी की सेवा का अवसर है पाया इसकी माटी वायु जल से दुर्लभ जीवन है विकसाया यह...

0

Archaelogical Evidence of pre-existing Ram Temple

The Babri structure had 14 pillars made of ‘Kasauti’ black stone with Hindu images. Also inside the Babri compound was a piece of a door jamb with images of ‘Mukut-dhari Dwarpal’ and ‘Devakanyas’. Iconographical evaluation of these pillars and the door jamb by Dr. S. P. Gupta (former Director of Allahabad Museum) showed that these belonged to a Hindu temple of the 11 th Century A.D. when the Garhwal Kings of Kanauj ruled Ayodhya.

किस बात पर गर्व करे…..? 0

किस बात पर गर्व करे…..?

किस बात पर गर्व करे…..??
लाखों करोड़ के घोटालों पर…?
85 करोड़ भूखे गरीबों पर…?
62 प्रतिशत कुपोषित इंसानों पर…?
या क़र्ज़ से मरते किसानों पर…?

0

आज़ादी की शुभकामनाएं

आज़ादी की शुभकामनाएं । आज़ादी के यज्ञ में बलिदान देने वाले सभी महापुरुषों को नमन। उन सबको नमन जिनके नाम तक इतिहास ना जान पाया।
भगत सिंह जैसी सोच , पण्डित आज़ाद जैसी सूझ बुझ , सुभाष जैसी हिम्मत और खुदीराम बोस जैसा जज़्बा।

0

सनातन धर्म में सोलह संस्कार

सनातन अथवा हिन्दू धर्म की संस्कृति संस्कारों पर ही आधारित है। हमारे ऋषि-मुनियों ने मानव जीवन को पवित्र एवं मर्यादित बनाने के लिये संस्कारों का अविष्कार किया। धार्मिक ही नहीं वैज्ञानिक दृष्टि से भी इन संस्कारों का हमारे जीवन में विशेष महत्व है। भारतीय संस्कृति की महानता में इन संस्कारों का महती योगदान है।मनुष्य के जन्म से लेकर मृत्यु तक सोलह पवित्र संस्कार सम्पन्न किये जाते हैं

0

सनातन धर्म में शंख का महत्व

सनातन धर्म में शंख को अत्यधिक पवित्र एवं शुभ माना जाता है । इसका पावन नाद वातावरण को शुद्ध, पवित्र एवं निर्मल करता है। शंख का उपयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है । शंख का प्रयोग प्रत्येक शुभ कार्य में किया जाता है । शंख की उत्पत्ति के सम्बन्ध में अनेको कथाये प्रचलित है ।

0

जागो भारतीयो जागो

भोजन से ही हमारे शरीर को कार्य करने की ऊर्जा मिलती है। हमारे देश में हर छोटे से छोटे या बड़े से बड़े कार्य से जुड़ी कुछ परंपराए बनाई गई हैं।
वैसे ही भोजन करने से जुड़ी हुई भी कुछ मान्यताएं हैं। भोजन हमारे जीवन की सबसे आवश्यक जरुरतों में से एक है। खाना ही हमारे शरीर को जीने की शक्ति प्रदान करता है।हमारे पूर्वजो ने जो भी परंपरा बनाई थी उसके पीछे कोई गहरी सोच थी।

3

क्या आप जानते हैं कि…

क्या आप जानते हैं कि…… आज के पाश्च्यात्य और तथाकथित रूप से आधुनिक कहे जाने वाले अंग्रेजों के पूर्वज जब जंगलों में नंग-धडंग घूमा करते थे….. और…. कंदराओं में रहा करते थे (मुहम्मद का तो उस समय जन्म भी नहीं हुआ था)……. उस समय भी हम हिन्दुस्तानी (हिन्दू) ….. परमाणु बम और हीट सीकिंग मिसाईल जैसे …. आधुनिकतम हथियार का प्रयोग किया करते थे…!

दरअसल…. बात कुछ ऐसी है कि……. भारत में अंग्रेजों के समय से जो इतिहास पढाया जाता है, वह चन्द्रगुप्त मौर्य के वंश से आरम्भ होता है…. और, उस से पूर्व के इतिहास को “प्रमाण-रहित” कह कर नकार दिया जाता है।

5

जानिये कौन कौन से देश में कैसे कैसे फैला इस्लाम ?

1) सौदी अरब में मुहम्मद के जन्म के (इस 570) वक्त अधिकतर लोग यहूदी (Jew) और ईसाई (Christian) धर्मि थे, और कुछ आदिवासीयों का अलग धर्म था जो अब लुप्त हो चूका है| वहा पर आतंक फैला कर मुहम्मद और उसके अनुयायियों ने जनता को मुसलमान बनाया और सौदी अरब इस्लामी देश बन गया |