Category Archives: Stories

Great Indian people stories. Some Great hindu people stories. Some great hindus stories.

Dated:- March 30, 2018

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 3 Views

Comments:-  0 comments

मानव का विकास और दशावतार

एक माँ अपने पूजा-पाठ से फुर्सत पाकर अपने विदेश में रहने वाले बेटे से विडियो चैट करते वक्त पूछ बैठीं | बेटा! कुछ पूजा-पाठ भी करते हो या नहीं ? बेटा बोला- माँ, मैं एक जीव वैज्ञानिक हूँ । मैं अमेरिका में मानव के विकास पर काम कर रहा हूँ। विकास का सिद्धांत, चार्ल्स डार्विन.. […]

Continue reading >>

Dated:- March 13, 2018

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 4 Views

Comments:-  0 comments

नागचंद्रेश्वर

भारत में नागों के अनेक मंदिर हैं, इन्हीं में से एक है, उज्जैन स्थित नागचंद्रेश्वर का। इस विश्व प्रसिद्ध मंदिर की खास बात यह है कि इसके पट साल में सिर्फ एक दिन नागपंचमी के दिन ही दर्शन के लिए सिर्फ 24 घंटे के लिए खुलते हैं। इस बार नागपंचमी 28 जुलाई को है। ऐसे […]

Continue reading >>

Dated:- April 29, 2017

Posted in:- Stories

Posted By:- Vicky Sharma

Views:- 2138 Views

Comments:-  0 comments

पुष्यमित्र शुंग

बात आज से 2100 साल पहले की है। एक किसान ब्राह्मण के घर एक पुत्र ने जन्म लिया। नाम रखा गया पुष्यमित्र। पूरा नाम पुष्यमित्र शुंग। और वो बना एक महान हिन्दू सम्राट जिसने भारत को बुद्ध देश बनने से बचाया। अगर ऐसा कोई राजा कम्बोडिया, मलेशिया या इंडोनेशिया में जन्म लेता तो आज भी […]

Continue reading >>

Dated:- April 28, 2017

Posted in:- Personalities

Posted By:- Anonymous

Views:- 2067 Views

Comments:-  0 comments

पेशवा बाजीराव की दिल्ली विजय

सवाल है कि क्या था शिवाजी का वो सपना, जिसे बाजीराव बल्लाल भट्ट ने पूरा कर दिखाया? दरअसल जब औरंगजेब के दरबार में अपमानित हुए वीर शिवाजी आगरा में उसकी कैद से बचकर भागे थे तो उन्होंने एक ही सपना देखा था, पूरे मुगल साम्राज्य को कदमों पर झुकाने का। हिन्दू मराठाओ कि ताकत का […]

Continue reading >>

Dated:- June 27, 2016

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 863 Views

Comments:-  0 comments

इतिहास की भूलों से नहीं सीख पाया

जो अपनी इतिहास की भूलों से नहीं सीख पाया , उसे हिन्दू कहते हैं lहम अपने शत्रु का बाल भी बांका नहीं कर सकते l भले ही हम कितने चुनाव जीत ले l छत्रपति शिवाजी , महाराजा रणजीत और महाराजा हेमचन्द्र विक्रमादित्य को छोड़कर इस देश के इतिहास में ऐसे चरित्र को ढूँढना कठिन है […]

Continue reading >>

Dated:- October 6, 2015

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 1189 Views

Comments:-  0 comments

पाक अधिकृत कश्मीर से भगाए गए हिन्दुओं की कथा और व्यथा

भारत पाक वार्ता में जब भी बैठक होती है तब कश्मीर का मुद्दा उठता है l लेकिन भारत ने कभी भी उन कश्मीरी हिन्दुओं का मुद्दा नहीं उठाया , जिन्हें सब से पहले कश्मीर की घाटी से बाहर निकाला गया l जबकि पाक अधिकृत कश्मीर पर इन परिवारों का मौलिक अधिकार है और इन्हें वहां […]

Continue reading >>

Dated:- August 22, 2015

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 1142 Views

Comments:-  0 comments

बाबा तुलसीदासजी

बाबा तुलसीदासजी का जन्म संवत 1589 को उत्तर प्रदेश (वर्तमान बाँदा ज़िला ) के राजापुर नामक ग्राम में हुआ था। इनके पिता का नाम आत्माराम दुबे तथा माता का नाम हुलसी था। इनका विवाह दीनबंधु पाठक की पुत्री रत्नावली से हुआ था। अपनी पत्नी रत्नावली से अत्याधिक प्रेम के कारण तुलसी को रत्नावली की फटकार […]

Continue reading >>

Dated:- August 15, 2015

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 1237 Views

Comments:-  0 comments

अमर शहीद रामप्रसाद बिस्मिल की माँ

एक 28 वर्षीय तरूण क्रान्तिकारी को फाँसी की सजा दी गयी । उस क्रान्तिकारी की माँ ने जेल प्रशासन से अपने लाडले पुत्र के अन्तिम संस्कार हेतु शव की मांग की ।

Continue reading >>

Dated:-

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 4118 Views

Comments:-  1 comments

इतिहास की अनकही सत्य कहानियां

सरदार वल्लभ भाई पटेल :- ‘‘नेहरू जी आइये रिक्शा में बैठ लीजिए !’’

जवाहर लाल नेहरू :- ‘‘नहीं पटेल जी हम खान साहब से जरूरी बातें कर रहे हैं |’’

सरदार वल्लभ भाई पटेल :- ‘‘ऐसी क्या जरूरी बाते हैं?

Continue reading >>

Dated:- August 6, 2015

Posted in:- Stories

Posted By:- Anonymous

Views:- 1784 Views

Comments:-  0 comments

चाणक्य की शर्त

किसी विदेशी महिला और उससे पैदा होने वाले बच्चे के हाथो में कभी सत्ता नहीं देनी चाहिए ,कारन पढ़िए।

Continue reading >>

Popular Articles